Breaking News
उत्तराखण्ड के चारों धामों के अलावा यात्रा मार्गों पर भी श्रद्धालुओं और वाहनों की धारण क्षमता का आंकलन किया जाए – मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी
बीते 10 सालों में प्रधानमंत्री ने हर पल-हर क्षण देशवासियों को किया समर्पित – मुख्यमंत्री धामी
नये कानून को लेकर पुलिस लाइन प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन, नये कानूनो के बारें में दी गई विस्तृत जानकारी
मुख्यमंत्री धामी ने भाजपा प्रत्याशी सुश्री बांसुरी स्वराज के पक्ष में किया प्रचार
सीएम धामी ने वर्चुअल माध्यम से की चारधाम यात्रा व्यवस्थाओं के संबंध में समीक्षा बैठक, दिए ये निर्देश
दिल्ली पहुंचे सीएम धामी ने आप को बनाया निशाना, कहा- स्कूल कॉलेज के नाम पर खोले शराब के अड्डे
11 गर्ल्स बटालियन ने सीआईएमएस कॉलेज को दी एनएसीसी खोलने की मान्यता
बदरीनाथ, केदारनाथ और गंगोत्री में कार्यरत पर्यावरण मित्रों को दी जाए अतिरिक्त गर्म वर्दी- प्रेमचंद
बड़कोट पहुंचे मुख्यमंत्री धामी, यमुनोत्री धाम की व्यवस्थाओं का लिया जायजा

चारधाम यात्रा मार्गों के लिए 12 महिला रेस्क्यूर को किया गया शामिल, श्रद्धालुओं को रेस्क्यू करने में मिलेगी मदद

देहरादून। चारधाम यात्रा मार्गों के लिए एसडीआरएफ में 12 महिला रेस्क्यूर को शामिल किया गया है। इसी के साथ एसडीआरएफ मुख्यालय जौलीग्रांट में प्रतिनियुक्ति पर नियुक्त पुलिस के 53 जवानों का 84 दिवसीय बेसिक फर्स्ट रेस्पॉन्डर कोर्स संपन्न हो गया। ये भी एसडीआरएफ में शामिल हो गए। सेनानायक मणिकांत मिश्रा ने कहा कि आगामी चारधाम यात्रा को सफल बनाने को पहली बार महिला रेस्क्यूर को भी विभिन्न पोस्टों पर तैनात किया जा रहा है। इससे चारधाम यात्रा मार्ग पर श्रद्धालुओं को रेस्क्यू करने में मदद मिलेगी।

कहा कि प्रशिक्षकों ने मेडिकल फर्स्ट रेस्पॉन्डर (एमएफआर) कॉम्प्लेक्स स्ट्रक्चर सर्च एंड रेस्क्यू (सीएसएसआर), केमिकल, बायोलॉजिकल, रेडियोलॉजिकल, न्यूक्लियर (सीबीआरएन) फ्लड रेस्क्यू, रोप रेस्क्यू इत्यादि का गहन प्रशिक्षण दिया गया है। राज्य में 31 स्थानों पर की पोस्टें हैं। नौ अतिरिक्त स्थानों पर भी रेस्क्यू टीम को तैनात किया गया है। इस अवसर पर सहायक सेनानायक शिवदत्त नौटियाल, क्वार्टर मास्टर राजीव रावत, ट्रेनिंग इंस्पेक्टर प्रमोद रावत आदि उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top